अगर सफलता चाहते हैं तो भीड़ से अलग चलना सीखिए।

दोस्तों एक पुरानी कहावत है:— लीक—लीक गाड़ी चले लीकहीं चले कपूत। लीक छोड़ तीनों चले शायर, सिंह और सपूत। पुराने समय में जब सड़कें कच्ची

जीवन में प्रगति के लिए लगातार अध्ययन की आवश्यकता क्यों है?

पुस्तकप्रेमी अच्छी तरह जानते हैं कि जीवन में प्रगति करने के लिए लगातार ज्ञान अर्जित करते रहना आवश्यक है, और यह भी कि ज्ञान का

Dr. B. R. Ambedkar

भीमराव रामजी आंबेडकर ( १४ अप्रैल, १८९१ – ६ दिसंबर, १९५६ )बाबा साहेब के नाम से लोकप्रिय , भारतीय विधिवेत्ता ,अर्थशास्त्री ,राजनीतिज्ञ और समाजसुधारक थे।

अगर सफलता चाहते हैं तो सफल लोगों से दोस्ती कीजिये।

बंधुओं अगर आप सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो सिर्फ और सिर्फ सफल लोगों से दोस्ती कीजिये।  असफल लोग चाहे कितना भी योग्य क्यों न

सफलता (Success)

मानव के लिए आज भी भाग्य एक गूढ़ रहस्य बना हुआ है।  चाहे शिक्षित हो या अशिक्षित, भाग्य को एकदम नकारने वाले विरले ही मिलेंगे। 

काम अधिक बातें कम।

बंधुओं, मेरे विचार से लोगों के चार श्रेणियॉं — अशिक्षित, अल्पशिक्षित,अर्द्धशिक्षित एवं शिक्षित होते हैं। अशिक्षित श्रेणी से सब अवगत हैं। अल्पशिक्षित श्रेणी के लोग

अगर बड़ा बनना है तो सफलता का श्रेय दूसरों को और असफलता की जिम्मेदारी खुद लिजिये।

बंधुओं बड़ी—बड़ी प्रतियोगिताओं में जब कोई सर्वश्रेष्ठ आता है तो उनसे पूछा जाता है कि आप अपने सफलता का श्रेय किसे देंगे? वे लोगी बड़ी

जीवन में सफल होने के लिए लगातार बौद्धिक विकास करते रहें।

बंधुओं जब हम शारीरिक रूप से बीमार या कमजोर होते हैं, तो क्या करते हैं?  सबसे पहले किसी अच्छे चिकित्सक से उपचार या सलाह लेते

Swami Vevekananda Quotes in Hindi: स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

आप ही अपना उद्धार करना होगा।  सब कोई अपने आपको उबारे।  सभी विषयों में स्वाधीनता, यानी मुक्ति की ओर अग्रसर होना ही पुरूषार्थ है।  जिससे

नेक अप, नेक डाउन:विकास का एकमात्र फार्मूला।

विकसित देशों में खासकर अमेरिका में विकास का नेक अप, नेक डाउन का फार्मूला बेहद प्रचलित एवं लोकप्रिय है। वहाँ के प्रत्येक नागरिक इस पर

व्यक्तिगत विकास के द्वारा ही समाज का विकास संभव है।

आजकल सोशल मिडिया, सामाजिक संगठनों और राजनैतिक पार्टियों इत्यादि जैसे मंचों से अपने समाज के बुद्धिजीवियों, समाजसेवकों एवं राजनेताओं के द्वारा अपने समाज के विकास