सीख किसी से भी ले लेना चाहिए। चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य किसी भी पात्र से सीखने का पक्ष लेते हुए कहते हैं कि शेर से एक, बगुले से दो, गधे से तीन,  मुर्गे से चार, कौए से पांच तथा कुत्ते से छ: बातें सीखने चाहिए। आचार्य चाणक्य ने बताया…