माता—पिता का कर्त्तव्य

द्वितीय अध्याय नीति :2.10,11,12 बच्चों के प्रति माता—पिता का कर्त्तव्य चाणक्य नीति के द्वितीय अध्याय के दसवे नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि पिता

Continue reading

साधु पुरूष

द्वितीय अध्याय नीति :2.9 साधु पुरूष चाणक्य नीति के द्वितीय अध्याय के नौवें नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि प्रत्येक

पराधीनता

द्वितीय अध्याय नीति :2.8 पराधीनता चाणक्य नीति के द्वितीय अध्याय के आठवें नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि मूर्खता, यौवन और पराधीनता कष्ट है।

सफल जीवन के लिए विशेषज्ञ (Specialist) बनना क्या जरूरी है?

दोस्तों जैसे—जैसे मानव विकास के नये आयाम को छू रहे हैं, सोचने—समझने की शक्ति में भी परिवर्तन हो रहा है। ज्यादातर लोग इसे सकारात्मक मान

One Nation, One Card, One Account

दोस्तों सरकार एवं जनता दोनों चाहते हैं कि देश में भ्रष्टाचार न हो और भ्रष्टाचार उन्मूलन के लिए प्रयास भी लगातार हो रहे हैं। लेकिन

1 7 8 9