गुण ग्राहकता

एकादश अध्याय नीति : 8 गुण ग्राहकता चाणक्य नीति के एकादश अघ्याय के आठवी नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो जिसके गुणों को

Continue reading

समय

एकादश अध्याय नीति : 4 समय चाणक्य नीति के एकादश अघ्याय के चौथी नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि कलियुग के दस हजार वर्ष

नाश

एकादश अध्याय नीति : 2 नाश चाणक्य नीति के एकादश अघ्याय के दूसरी नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जिस देश में न्याय—कानून की

भाग्य

दशम अध्याय नीति : 5 भाग्य चाणक्य नीति के दशम अघ्याय के पाँचवी नीति में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि भाग्य बड़ा बलवान होता है।

1 2 3 4